शीशम का पेड़ || sheesham ka ped

शीशम का पेड़ || sheesham ka ped

शीशम का पेड़ || sheesham ka ped
शीशम का पेड़ || sheesham ka ped

एक आदमी ने अपने घर के बाहर sheesham ka ped। वह उसकी खूब देखभाल करता था ।वह पेड़ धीरे – धीरे काफी बड़ा हो गया था । एक दिन एक दुर्घटना में उस व्यक्ति की मृत्यु । होगई । अब sheesham की देखभाल उस आदमी का बड़ा बेटा करने लगा । कुछ दिनों बादउसका एक पड़ोसी आया और बोला – क्या तुम नहीं जानते , । घर के बाहर sheesham kaped लगाना । अशुभ होता है ।

इसीलिए तुम्हारे घर में समस्याएँ आती रहती हैं । पड़ोसी ने उसे कटवाने की सलाह दी । पड़ोसीकी सलाह मानकर उस युवक ने पेड़ कटवा दिया और उसके बड़े – बड़े लट्ठे बनवा दिए । इससेउसका बगीचा भर गया और अन्य पौधे दबने लगे । अब उसका पड़ोसी बोला – लाओ , इन्हें मैं लेजाता हूँ , वरना ये तुम्हारा पूरा बगीचा ही खराब कर देंगे । युवक ने पेड़ के टुकड़े उसे दे दे । मेंभलाई समझी ।

शीशम का पेड़ || sheesham ka ped
शीशम का पेड़ || sheesham ka ped
शीशम का पेड़ || sheesham ka ped

थोड़े दिनों बाद उसे पता चला कि sheesham के लट्ठों को बेच कर पड़ोसी मालामाल हो । | गया । तब उसे समझ में आया कि पड़ोसी ने उसे मूर्ख बनाकर शीशम का पेड़ हथिया लिया । उसने अपने गुरु के पास जाकर सारी कहानी बताई , तो गुरुजी बोले , ” वह * पेड़ अशुभ नहीं था , बल्कि उसका दुर्भाग्य था कि वह तुम्हारे जैसे इंसान के यहाँ लगा था , जो अपनी अक्ल का । इस्तेमाल न कर शुभ – अशुभ बातों पर विश्वास कर लेता है । सीखः – किसी की बात को बिना सोचो समझे सहज ही मान लेने के बज अपने दिमाग  का इस्तेमाल अवश्य करना चाहिए ।

शीशम का पेड़ || sheesham ka ped

वृक्ष धरती के वरदान वृक्ष हैं – मानव के उपहार वृक्ष हैं । आओ मिलकर वृक्ष लगाएँ – धरती माँ कीमाँग सजाएँ । । पेड़ कट जाएँगे तो कैसे कटेगी जिंदगी ? वक्त से पहले जनाजे से सजेगी जिंदगी ।इन हवाओं के लिए भी चाहिए हरियालियाँ , हवा भी गर कम मिले तो घटेगी जिन्दगी । जंगलों परइस तरह ही जुल्म गर होता रहा , गर्दिशों के सामने कैसे डटेगी जिन्दगी । लाख समझौते करोलेकिन किसी शक्ति पर , नेक रास्तों से कभी भी न हटेगी जिन्दगी । । इन पेड़ों के बिना खुश नरहेंगे “ घर – आँगन ” मौत के बाँहों में घिर जायेगी जिन्दगी । अब भी वक्त है , बदल लो अपनेइरादों को , वर्ना , आज फिर राख में बदल जायेगी जिंदगी । पते ” की बात मानों खिलाओ फूलवतन में , फूलों की खुशबुओं से बदल जायेगी जिन्दगी ।

More kahani

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *