lakadahaara aur paree kee kahani - लकड़हारा और परी की कहानी


lakadahaara kee kahani 

एक दिन पीटर नाम के लकड़हारे को खजाने से भरी एक गुफा मिली । अभी वह उस सोने को देख ही रहा था कि वहां नॉरविन नामक बौना आ गया । नॉरविन ने पीटर से पूछा , " तुम मेरी गुफा में क्या कर रहे हो ? " पीटर....
Read More...


Hindi Horror Story | श्रापित हवेली | bhoot ki kahani


 

Hindi Horror Story |श्रापित हवेली | bhoot ki kahani

बहुत समय पहले की बात है। पहाड़ों के पास एक खाली हवेली थी। उसमें कोई भी रात को ठहरता तो सुबह तक वही गायब हो जाता था। एक दिन तीन दोस्त राहुल सलीम और पंकज नाम के पहाड़ों पर बर्फ के मज़े....
Read More...


New Love Shayari in Hindi, True Love shayari, Happy Love


 

Love sharari

मुजे देखकर तुम अपना रास्ता क्यू बदल लेते हो..अगर है नहीं मोहब्बत तो फिर मुस्कुरा क्यूओ देते हो .. !!

आंख खोलू ते चेहरा तुम्हारा हो.. बंद करू तो सपना तुम्हरा हो... मैं मर भी जाऊं तो कोई गम ना हो अगर खोफ के बादले आंचल तुम्हारा....
Read More...


Asli bhoot ki kahani | एक अनदेखी चुड़ैल की कहानी


 

Asli bhoot ki kahani | एक अनदेखी चुड़ैल की कहानी

एक गांव में एक अस्पताल था। उस अस्पताल में एक नर्स थी। उस नर्स के उपर एक chudail का साया था। वह रात की तीन बचते ही चुरेल में बदल जाती थी। इसीलिए वह हर दिन रात को तीन बजने से पहले....
Read More...


bhoot ki kahani | एक डरावना पत्नी की कहानी


 

bhoot ki kahani

एक गांव में एक लालची औरत अपने पति के साथ रहती थी उसका एक बेटा था। जिसका नाम बाबूलाल था वह कोई काम धाम नहीं करता था, बस पूरा दिन गांव में इधर उधर मंडराता रहता था। एक दिन बाबूलाल रास्ते से गुजर रहा था उसे एक खुबसूरत....
Read More...


hindi kahani , story in hindi


 

hindi kahani , story in hindi

अमरापुर गांव में मधु और गोपाल नाम के दो मित्र रहते थे। मधु बहुत ही कामचोर था। और गोपाल बहुत ही परिश्रमी था वे अपना काम पूरी लगन से करता था। वो दोनों ही गांव के जमींदार मोहन चौधरी की जमीन पर काम करते थे।....
Read More...


Happy new year 2020 shayari, New year sms shayari


 

लक्ष्मी का हाथ हो सरस्वती का साथ हो गणेशजी का निवास हो और लक्ष्मी के आशीर्वाद से अपके जीवन में प्रकाश 
ही प्रकाश हो “हैप्पी न्यू ईयर”

  • पुराने साल सबसे हो रहा है दूर, क्या करें यही है कुदरत का दस्तूर, 
    पुराने यादें सोच कर उदास न....
    Read More...

    All Rights Reserevd - kahani99.com